Telecom Companies को सरकार से मिली बड़ी राहत Private Property पर Mobile Tower लगाने के लिए नहीं लेनी पड़ेगी इजाजत

सरकार ने  5G Services, के Implementation को आसान बनाने के लिए Small Mobile Radio Antennas लगाने या ऊपर से टेलीकॉम तार ले जाने को लेकर बिजली के खंभे, फुट ओवरब्रिज आदि का इस्तेमाल करने के लिए फीस  के साथ नियमों को भी Notified किया है.

Notice में कहा गया है कि लाइसेंस लेने वाली कंपनी अगर किसी Private Property के ऊपर Telegraph बुनियादी ढांचे की स्थापना का प्रस्ताव करती है, उसे किसी अधिकारी से किसी Permission  की जरूरत नहीं होगी

हालांकि, Indian Telegraph Right of Way (संशोधन) नियम, 2022 के मुताबिक, Telecom Companies को Private Building या Property. पर मोबाइल टावर या खंभे को लगाने से पहले उपयुक्त प्राधिकरण को लिखित में जानकारी देने की जरूरत होगी.

Notice  में कहा गया है कि छोटे सेल लगाने के लिए खंभों, यातायात संकेतक जैसे स्ट्रीट फर्नीचर का इस्तेमाल करने वाली टेलीकॉम कंपनियों को शहरी क्षेत्रों में 300 रुपये सालाना और ग्रामीण क्षेत्रों में 150 रुपये प्रति स्ट्रीट फर्नीचर का भुगतान करना होगा.

इसमें कहा गया है कि स्ट्रीट फर्नीचर का इस्तेमाल कर केबल लगाने के लिए टेलीकॉम कंपनियों को सालाना 100 रुपये प्रति स्ट्रीट फर्नीचर का भुगतान करना होगा.

5G Services का इंतजार इसी महीने खत्म हो सकता है. केंद्रीय मंत्री Ashwini Vaishnav ने जानकारी दी थी कि टेलीकॉम कंपनियों को 5 जी स्पेक्ट्रम का आवंटन कर दिया गया है.कंपनियां इसी महीने से 5जी सेवा की शुरुआत कर सकती हैं.


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/biwekxhq/stockmarketgurukul.in/wp-includes/functions.php on line 5420